चीन द्वारा भारत को नीचे दिखाने की लगातार कोशिशों का जवाब दे सरकार :: हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, २४ जुलाई २०१४

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्तव्य में चीन सरकार की निंदा करते हुए कहा है कि चीन की भेदभाव पूर्ण नीति का जवाब देने की योजना पर मोदी सरकार कार्य करे. गौरतलब है कि चीन में एक अंतरराष्ट्रीय बॉस्केटबॉल प्रतियोगिता में भारत से गए सिख खिलाड़ियों से पगड़ी उतारने को कहे जाने की खबरों से स्तब्ध शीर्ष अमेरिकी सांसदों ने एक अभियान छेड़ते हुए फीबा से कहा है कि वह अपनी भेदभावपूर्ण नीति की समीक्षा करे. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कौशिक एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री शर्मा ने मोदी सरकार को चीन के अपमानजनक रवैये एवं सीमा-विवाद पर उसके आक्रामक व्यवहार से निपटने की समग्र रणनीति पर बनाने पर जोर दिया है. व्यापार, अंतर्राष्ट्रीय-सम्बन्ध को ध्यान में रखते हुए चीन की तेजी से घेरेबंदी किये जाने की जरूरत है. वहीं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री श्री त्यागी ने अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और संयुक्त राष्ट्र संघ से चीन में पगड़ी उतरवाने की घटना पर संज्ञान लेने को आवश्यक बताया है. हिन्दू महासभा पदाधिकारी इस बात पर पूर्ण सहमत थे कि चीन को उसी की भाषा में जवाब देने की आवश्यकता है, अन्यथा भारत की छवि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर धूमिल हो सकती है.

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

अमरनाथ-यात्रा की सुरक्षा सेना के हवाले की जाय, जम्मू-कश्मीर सरकार को बर्खास्त किया जाय :: हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, २१ जुलाई २०१४

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्तव्य जारी करके अमरनाथ तीर्थ-यात्रियों एवं सेवा-शिविरों पर मुसलमानों के हमले करने को अमानवीय बताते हुए इसके लिए जम्मू-कश्मीर की उमर अब्दुल्लाह की सरकार को जिम्मेवार ठहराया है. गौरतलब है कि पिछले दिनों सैकड़ों की संख्या में अमरनाथ यात्रा-मार्ग में लगे हुए शिविरों को कथित जेहादियों ने जला दिया. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कौशिक एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री शर्मा ने बालटाल की इस घटना को हिन्दुओं को उकसाने वाली कार्रवाई बताते हुए चेतावनी दी कि हिन्दू जनता को मुसलमान कतई न उकसाएं, अन्यथा हिन्दू जनता का आक्रोश पिछले सालों में वह देख चुके हैं. राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने इस बात का भी जिक्र किया कि जिस प्रकार कश्मीर से कश्मीरी पंडितों को योजनाबद्ध ढंग से मुसलमानों और वहां की सरकार ने भगाया, ठीक उसी प्रकार से अमरनाथ तीर्थ-यात्रियों को आतंकित करने की कोशिश की जा रही है. लेकिन शायद उन राक्षसों को पता नहीं है कि हिन्दू जनता धर्म की रक्षा के लिए प्राण देती भी है और धर्म की खातिर देशद्रोहियों का प्राण लेती भी है. राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री ने इस समस्त प्रकरण के लिए जम्मू की उमर अब्दुल्लाह सरकार को दोषी ठहराते हुए उसकी बर्खास्तगी की मांग की, वहीँ दूसरी तरह अमरनाथ तीर्थ-यात्रा को सेना के द्वारा सुरक्षा देने की मांग की.

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

शिवभक्त कांवड़-यात्रियों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की जाए, सरकारी कर्मचारियों को विशेष अवकाश मिले :: हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, १७ जुलाई २०१४

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्तव्य जारी करके नेशनल हाईवे ५८ पर दो कांवड़ियों की मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया है तथा केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार से कांवड़ियों के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं व सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है. हिन्दू महासभा पदाधिकारियों ने इस बात पर रोष व्यक्त किया है कि जब प्रत्येक वर्ष कांवड़-यात्रा निश्चित है, तो फिर उनकी सुरक्षा हेतु सिर्फ औपचारिकता कर के उनकी जान के साथ खिलवाड़ क्यों किया जाता है. गौरतलब है कि प्रत्येक वर्ष विभिन्न क्षेत्रों में कई कांवड़ियों की जानें सड़क-दुर्घटनाओं में चली जाती हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कौशिक एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री शर्मा ने इस कांवड़-यात्रा के लिए केंद्रीय-स्तर पर एक अलग मंत्रालय अथवा केंद्रीय आयोग गठित करने की मांग की है, जो कांवड़-यात्रा से सम्बंधित समस्याओं को देखे और उसका समाधान करे. जरूरत पड़ने पर कांवड़ियों के लिए अलग पैदल-पथ का निर्माण किया जाए, जिसपर दुर्घटना होने की सम्भावना शून्य हो. राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने केंद्र और राज्य सरकारों से अपने कर्मचारियों को कांवड़-यात्रा के लिए विशेष अवकाश देने की मांग की है. यह अवकाश विशेष रूप से इसी यात्रा के लिए दिया जाए ताकि हिन्दू धर्म के इस महान आयोजन से जुड़कर सरकारी अधिकारी भी लाभ उठा सकें. कांवड़-यात्रा में शिवभक्तों के साथ होने वाली दुर्घटनाएं न रुकने पर हिन्दू महासभा ने देशव्यापी आंदोलन करने की चेतावनी दी है.

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

हाफिज सईद से मुलाकात देशद्रोह के बराबर, सरकार वैदिक के मामले में अपना पक्ष साफ़ करे : हिन्दू महासभा

नई दिल्ली, १४ जुलाई २०१४

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने मुंबई हमले के मास्टर-माइंड हाफिज सईद के साथ बाबा रामदेव के करीबी पत्रकार वेद प्रताप वैदिक की मुलाकात पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. गौरतलब है कि भारत पर कई हमलों के मुख्यारोपी का इस तरह से महिमांडन किया जाना देशद्रोह है. हाफिज सईद से मुलाकात करके वैदिक ने देश के नागरिकों के मुंह पर करारा तमाचा जड़ा है. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कौशिक ने केंद्र सरकार से इस मामले में अपना रूख स्पष्ट करने की मांग की, वहीं राष्ट्रीय महामंत्री श्री शर्मा ने कहा कि हाफिज सईद से इस तरह की मुलाकात भारत को कश्मीर मोर्चे पर कमजोर कर सकती है. राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने बाबा रामदेव के इस समस्त प्रकरण पर लीपापोती की कोशिश पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि यदि रामदेव को इस बात पर आपत्ति नहीं है कि वेद प्रताप वैदिक जैसे वरिष्ठ पत्रकार हाफिज जैसे आतंकी से मिलें, तो फिर उन्हें कश्मीरी आंदोलनकारियों के इस आतंकी से मिलने पर आपत्ति क्यों थी. पिछले दिनों जब हुर्रियत का एक नेता हाफिज सईद से मिला था तो देश भर में विरोध प्रदर्शन हुए और दिल्ली में उस अलगाववादी को थप्पड़ तक पड़ा था. हिन्दू महासभा नेता इस बात पर एकमत हैं कि आतंकवादियों से इस तरह का मेलजोल भारतवर्ष के लिए नुकसानदायक है, और मोदी सरकार को इस बाबत सख्त रूख अपनाना चाहिए. हिन्दू महासभा के नेताओं ने चेतावनी दिया है कि यदि वैदिक पर कोई कार्रवाई नहीं की गई तो, महासभा देशव्यापी आंदोलन करेगी.

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री

हिन्दू महासभा ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक बताया, रक्षा व बीमा के क्षेत्र में एफडीआई की सीमा बढ़ाने का विरोध किया.

नई दिल्ली, १० जुलाई २०१४

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा व राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने आज लोकसभा में वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा प्रस्तुत किये गए केंद्रीय बजट को निराशाजनक बताया है तथा कहा है कि रक्षा व बीमा क्षेत्र में एफडीआई की सीमा ४९ फीसदी करने से देश पुनः गुलामी की ओर जाएगा. रक्षा क्षेत्र पूर्ण रूप से स्वदेशी होना चाहिए. उसमें एफडीआई को लाना देशहित में नहीं है. रेल बजट में भी एफडीआई व पीपीपी का प्रस्ताव है. ऐसे में भारत विदेशी व देशी कंपनियों के हाथों का खिलौना बनकर रह जायेगा तथा देशवासी औद्योगिक घरानों व बहुराष्ट्रीय कंपनियों के गुलाम बन जायेंगे. हिन्दू महासभा देश को गुलाम बनाने व गिरवी रखने के नरेंद्र मोदी सरकार के निर्णय का तीव्र विरोध करेगी. अखिल भारत हिन्दू महासभा के नेताओं ने कहा है कि कर-छूट की सीमा मात्र ३ लाख तक व निवेश की सीमा मात्र १.५० लाख तक ही रखने से आम जनता को गहरी निराशा हुई है. बजट में किसानों व मजदूरों के लिए विशेष राहत नहीं देकर केंद्र की राजग सरकार ने देश की आम जनता को धोखा दिया है. बजट में महंगाई रोकने व विदेशी बैंकों में जमा काले धन को भारत वापस लाने का ठोस प्रस्ताव नहीं होने से देशवासियों को झटका लगा है तथा उन्हें लग रहा है कि अब शायद देश में अच्छे दिन नहीं आ पाएंगे. हिन्दू महासभा नेताओं ने मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए मोदी सरकार के तोहफों पर ऐतराज जताया है तथा कहा है कि देश में अच्छी शिक्षा दे रहे गुरुकुलों व आश्रमों के विकास व संचालन के लिए भी बजट में राशि उपलब्ध कराया जाना चाहिए था. साथ ही साथ हिन्दू तीर्थ स्थलों के विकास के लिए भी बजट में प्रावधान नहीं किया गया है. इमामों की तरह हिन्दू पुजारियों के लिए वेतन देने का कोई प्रावधान नहीं किया गया है. हिन्दू महासभा के नताओं ने कहा है कि बजट में हिन्दुओं के साथ धोखा हुआ है.

वीरेश त्यागी
राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री