तलाक शुदा मुस्लिम महिलाओं का भरण-पोषण पूर्व पति द्वारा करने का प्रावधान लागू करने की मांग।

प्रतिष्ठा में,
श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :- तलाक शुदा मुस्लिम महिलाओं का भरण-पोषण पूर्व पति द्वारा करने का प्रावधान लागू करने की मांग।
महोदय,
शाह बानो के पक्ष में आए उच्चतम न्यायालय के निर्णय को निष्प्रभावी करने के लिए कांग्रेस सरकार ने कानून बनाया था, उक्त कानून में यह व्यवस्था भी कर दी गई कि तलाकशुदा महिलाओं के भरण-पोषण का भार माता-पिता और रिश्तेदारों पर होगा, जबकि कुरान में यह प्रावधान नहीं है ।
महिलाओं के पैरों में बेड़ियाँ डालकर अथवा उन्हें कट्टरपंथियों की दासियाँ बनाकर देश को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता ।
अतः निवेदन है कि मुसलमानों के घरों में यातनाएँ पा रहीं माताओं और बहनों को 1400 वर्ष पुराने इस्लामी प्रथाओं और दकियानूसी परम्पराओं से स्वाधीन भारत में शीघ्र मुक्ति के लिये तलाकशुदा मुस्लिम महिलाओं का भरण-पोषण पूर्व द्वारा करने का प्रावधान लागू करे।
सादर, भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव

(वीरेश त्यागी)  राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री