कम्प्यूटरों पर रोमन कुँजीपटल से देवनागरी में मुद्रण की पद्धति, देवनागरी लिपि के टंकण के लिए घातक ।

प्रतिष्ठा में,
श्री राजनाथ सिंह जी,
माननीय गृह मंत्री, भारत सरकार
नॉर्थ ब्लॉक, नई दिल्ली-110001

विषय :- कम्प्यूटरों पर रोमन कुँजीपटल से देवनागरी में मुद्रण की पद्धति, देवनागरी लिपि के टंकण के लिए घातक ।

महोदय,
कम्प्यूटरों पर हिंदी भाषा को देवनागरी लेखन हेतु रोमन के कुँजीपटल से विशेष सॉफ्टवेयर का प्रयोग करके लिखे जाने की मनोवृति बढ़ रही है । इसका परिणाम यह हो रहा है कि देवनागरी के कुँजीपटलों के द्वारा हिंदी/देवनागरी को कम्प्यूटर पर लिखने की पद्धति को हानि पहुँच रही है और देवनागरी कुँजीपटल का प्रयोग घट रहा है ।
यह भी पता चला है कि राजभाषा विभाग कि वेबसाइट पर रोमन के कुँजीपटल से हिंदी/देवनागरी लिखने को परोक्ष बढ़ावा दिया गया है, जिससे देवनागरी में सीधे टंकण करने की मनोवृति को हानि पहुँच रही है ।
इस क्रम में सुझाव है किः-
1. सरकारी विद्यालयों और प्रशिक्षण संस्थानों में जहाँ कम्प्यूटर पर टंकण का प्रशिक्षण दिया जा रहा हो, वहाँ देवनागरी लिपि का टंकण प्रशिक्षण अनिवार्य किया जाए और उसमें उत्तीर्ण होने की बाध्यता के आदेश जारी किए जाएँ ।
2. कुँजीपटल बनाने वाली कम्पनियों के लिए देवनागरी अथवा विकल्पतः किसी अन्य भारतीय भाषा की लिपि के अक्षर उत्कीर्ण होने अनिवार्य किए जाएँ ।
3. राजभाषा विभाग की वेबसाइट से देवनागरी में रोमन कुँजीपटल से लिखने की सुविधा सम्बंधी प्रावधान या तो हटा दिया जाए अथवा उसकी शब्दावली ऐसी कर दी जाए, जिससे उक्त पद्धति के प्रयोग को प्रोत्साहन न मिले ।
विश्वास है कि विचार करके शीघ्र उचित आदेश जारी कराने की कृपा करेंगे ।
इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर, भवदीय

(मुन्ना कुमार शर्मा) संपादक

(वीरेश त्यागी) प्रबंध संपादक