अल्पसंख्यक तुष्टीकरण को तत्काल रोकने की मांग।

प्रतिष्ठा में,
श्री नरेन्द्र मोदी जी,
माननीय प्रधानमंत्री, भारत सरकार।
साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011

विषय :-अल्पसंख्यक तुष्टीकरण को तत्काल रोकने की मांग।

महोदय,
निम्नलिखित तथ्यों का संज्ञान लेने की कृपा करेंः-
1. मनमोहन सिंह सरकार ने ऐसा माहौल बना दिया था कि बहुसंख्यक समाज (अर्थात् हिन्दू समाज) पीड़ित महसूस करने लगा ।
2. समझौता एक्सप्रेस विस्फोट में शामिल पाकिस्तानी आतंकियों को देश से बाहर निकल जाने दिया और अपने देश के नागरिकों को ही फँसा दिया । वे फर्जी तरीके से फँसाए गए ।
3. कांग्रेस आज भी वहीं खड़ी है जहाँ 1986 में शाह बानो के मामले में थी ।
4. पता नहीं क्यों कांग्रेस को मुस्लिम कट्टरपंथियों को खुश रखने में ही अपना राजनीतिक भविष्य नजर आता है ?
5. मनमोहन सिंह ने अपना जो किया सो किया लेकिन देश का बहुत नुकसान किया और उन्हें इसका कोई पछतावा नहीं है ।
6. 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि देश का बहुसंख्यक हिन्दू समाज अल्पसंख्यक मानसिकता का शिकार हो गया है ।
7. अब भाजपा को हरा सकने वाले ही हारने लगे हैं और वह भी मुस्लिम समर्थन के बावजूद ।
उपर्युक्त स्थिति में यह विचारणीय है कि कहीं कांग्रेस की तरह भाजपा भी मुस्लिम तुष्टिकरण की मानसिकता की ओर तो नहीं बढ़ रही है, क्योंकि निम्नलिखित मामलों में तुष्टिकरण जोर-शोर से हो रहा दिख रहा है :-
1. मुस्लिम लड़कियों के निकाह के लिए 51 हजार रूपये की धनराशी की घोषणा । यदि यह सही है तो अनेक हिन्दू लडकों को मतांतरण की प्रेरणा मिल सकती है ।
2. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की 5 शाखाओं की स्थापना ।
3. मुस्लिम कन्याओं के लिए विशेष 105 विद्यालय खोलना, जो नवोदय विद्यालय की तर्ज पर होंगे ।
4. अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय बने रहना और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तथा अल्पसंख्यक वित्त संस्थान आदि बने रहना।
5. अल्पसंख्यक आयोग को सांविधिक अधिकार मिलना आदि ।
विश्वास है कि इन सब मामलों में शीघ्र पुनर्विचार किया जाएगा । इस सम्बंध में की गई कार्रवाई की जानकारी भिजवाने का कष्ट करें ।

सादर,
भवदीय

(चन्द्रप्रकाश कौशिक) राष्ट्रीय अध्यक्ष

(मुन्ना कुमार शर्मा) राष्ट्रीय महासचिव

(वीरेश त्यागी)  राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री